सोमवार, 19 अप्रैल 2010

आभार



ब्लोगिंग का एक साल


कल भी ,कभी कल हो जाएगा


अपने कदमो के निशां छोड़ जाएगा


एक अद्भुत और अनोखी दुनिया ,जो मेरी कल्पना से बहुत परे रही ,जो एक सौगात स्वरुप मुझे मिली इस जगत से जोड़ने का श्रेय मेरी परम मित्र वंदना अवस्थी दुबे को जाता ,जिसने स्नेह एवं अधिकार के साथ इस जहां में मेरी जगह बनाई ,जहाँ मुझे अच्छे -अच्छे मित्र मिले ,तथा उनके बीच मेरी पहचान भी कायम हुई

इस खुशबू भरे गुलिस्ता में जीवन महक उठा इस जादू भरे पिटारे को जितनी बार खोली ,उतनी दफे ही कुछ नया कुछ अनमोल खज़ाना पाया ,जो इस जीवन को सार्थक करता रहा ,इसका हौसला बढ़ाता रहा

कुछ लोग हमेशा मेरे हित में अपनी सलाह देते रहे ,इस अपनेपन से मुझे बेहद ख़ुशी होती रही ,कुछ ब्लोगर बन्धु मेरी तबियत की फ़िक्र लिए बराबर हालचाल पूछते रहे ,आखिर यहाँ कोई ना उम्मीद कैसे हो सकता है जहाँ अपनत्व स्नेह का दरिया है कुछ साथी बराबर साथ बने रहे उनकी मैं आभारी हूँ और हार्दिक रूप से धन्यवाद करती हूँ


सबसे ज्यादा वंदना अवस्थी दुबे का शुक्रियां करती हूँ जिसका ये अहसान किसी कीमत पर नही उतारा जा सकता ,उसके बगैर ये असंभव रहा ,वो होती तो मैं आज आप सभी के बीच नही होती ,वो गुणी तो है ही साथ में एक बेहतर इंसान भी है ,मेरा ये सौभाग्य है कि वो मेरी अजीज़ मित्र ,राजदार ,सलाहकार और पड़ोसी है ,ये वजूद मेरा जिन्दा उसकी वज़ह से है ,इसलिए उसके आभार को प्रगट करने के लिए मेरे पास शब्द नही सिर्फ अहसानमंद हूँ

शायद कुछ फैसले तकदीर हमारे लिए पहले ही तय कर देती है मगर इल्म इसका नही होने देती ,इंसान का इंसान पे एतबार बना रहा ,नेकी से नाता टूटे इस खातिर जरिया भी इंसान को ही बनाती है ,इसी वजह से मानवता कायम है ,इतने संघर्षो के बावजूद भी

और ब्लॉग जगत भी एक ऐसा ही आधार है या यूं कहे शायद इसी कारण से इसे बनाया गया जहाँ व्यक्ति एक दूसरे की भावनाओ को समझे एवं मन को हल्का कर सके


भारी व्यस्तता में भी लोग आपस में खोज खबर लेते रहते है और दर्द को सँभालते है जिससे इंसानियत से अटूट रिश्ता बन पड़ता है

एक वर्ष पूरे होने पर मैं अपने इस अद्भुत अहसास के लिए आप सब की आभारी हूँ ,इस सफ़र में बराबर सहयोग साथ बनाये रखने के लिए एक दफे फिर से धन्यवाद


जगमगाती ज्योति हरदम ज्यो की त्यों कायम रहे

हर पल आशाओ के दीप सब दिल में रौशन रहे


.........................................................................................................


यह उज्जवल गंगा की धार

करे नैनो का सपना साकार

24 टिप्‍पणियां:

अनूप शुक्ल ने कहा…

बहुत-बहुत बधाई आपको एक साल पूरा करने पर।

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

ज्योति जी, आपने तो ज़रूरत से ज़्यादा अहमियत दे दी मुझे. और इतनी तारीफ़...मैं तो शर्मिन्दा हुई जा रही हूं.
बहुत-बहुत शुभकामनायें, बधाइयां इसी प्रकार लिखतीं रहें.

nilesh mathur ने कहा…

ब्लोगिंग का एक वर्ष पुरा करने पर आपको बधाई ! इसी तरह लिखती रहें, हमारी शुभकामना आपके साथ है !

kshama ने कहा…

Bahut,bahut badhayi aur dheron shubhkamnayen!
Aapki har dua qubool ho..aameen!

मनोज कुमार ने कहा…

शुभकामनाएं। बधाई।

अल्पना वर्मा ने कहा…

अरे वाह क्या बात है ज्योति जी..यह तो बेहद ख़ुशी की बात है..
बहुत बहुत बधाई ब्लॉग के एक साल पूरे होने पर.
भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनायें.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

बहुत-बहुत बधाई ज्योति जी!

आदित्य आफ़ताब "इश्क़" ने कहा…

ज्योति जी ब्लोगिंग का एक साल मुबारक .........हमेशा युहीं और बेहतर प्रस्तुति के साथ बनी रहे आप .............वंदना जी को सादा सादर प्रणाम ! हैप्पी ब्लोगिंग

नीरज गोस्वामी ने कहा…

ब्लॉग जगत पर एक साल पूरा करने की बधाई...कामना करते हैं की ये पर्व वर्षों तक यूँ ही मनाती रहें.....
नीरज

संजय भास्कर ने कहा…

बहुत-बहुत बधाई आपको एक साल पूरा करने पर।

संजय भास्कर ने कहा…

हैप्पी ब्लोगिंग MUMMY JI

दिगम्बर नासवा ने कहा…

एक वर्ष पूरा होने पर बहुत बहुत बधाई ........

Apanatva ने कहा…

bahut bahut hardik badhaee sweekare..........samay kaise bhagne laga hai ab.............Mera bhee agle mahine saal poora ho jaega.............:)

अनामिका की सदाये...... ने कहा…

MERA NAAM KAB AAYEGA??????

HA.HA.HA.
BAHUT ACHHI POST...
AUR
BADHAYI IS 1ST ANNIVERSERY PAR.:)

'अदा' ने कहा…

ज्योति जी,
एक वर्ष पूरा कर लिया आपने...यह सोच कर ही मन गदगद होता होगा...
अभिव्यक्ति का संसार मिल जाए तो फिर मनुष्य को और किसी चीज़ कि इच्छा नहीं होती..तभी तो ब्लॉग्गिंग एक नशा सा तारी हो जाता है...कितने ख़याल हमारे अन्दर उमड़-घुमड़ कर शांत हो जाया करते थे...अब हम उसे उकेर पाते हैं...कोई उसे पढ़ पाता है और अपनी प्रतिक्रिया दे पाता है..यह सब कुछ बहुत सुखद है...
आपको अनेकों बधाई...ब्लॉग्गिंग कि सालगिरह पर...
ऐसे ही लिखती रहे ...और हमलोग पढ़ते रहे...
आभार...

हरि शर्मा ने कहा…

एक साल पूरा होने पर बहुत बहुत बधाई. खूब लिखिये और विन्दास लिखिये.

BrijmohanShrivastava ने कहा…

बधाई स्वीकारें |अच्छी अच्छी रचनाओं से हम भी तो लाभान्वित हुए

हिमान्शु मोहन ने कहा…

अच्छा लग रहा है आपका एक साल ब्लॉगरी का पूरा होने पर अहसासों को शेयर करना।
बधाई।

Indranil Bhattacharjee ........."सैल" ने कहा…

वाह जी आप एक साल के हो गए ... बधाई हो ... हम तो अभी कुछ महीनो के ही हैं ... अभी तो दांत भी नहीं आये हैं ... चलिए पहला जन्मदिन मुबारक हो ! इसी तरह लिखती रहे ... आपकी पहचान और बढे ... जीवन में सफलता मिले ... यही हार्दिक कामना है !

शोभना चौरे ने कहा…

ब्लॉग को अक साल पूरा होने पर बहुत बहुत बधाई

isi tarh aap likhti rhe
shubhkamnaye

रचना दीक्षित ने कहा…

ज्योति जी, एक साल कब हो गया पता ही नहीं चला.आपको बहुत बहुत बधाई और आने वाले सुनहरे भविष्य के लिए ढेरों शुभकामनायें

Manoj Bharti ने कहा…

ज्योति जी ब्लागिंग का एक साल पूरा करने पर मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ स्वीकार करें । आप यूँ ही अपनी अभिव्यक्ति से इस ब्लाग जगत को समृद्ध बनाए रखिए ।

शरद कोकास ने कहा…

मुबारक हो । आपकी कलम चलती रहे यह दुआ ।

राज भाटिय़ा ने कहा…

देर से ही सही हमारी बधाई स्वीकार करे