गुरुवार, 20 अगस्त 2009

'राजीव'

शिष्ट शालीन सौम्यता के

धनी राजीव --

नम्र ,शांत ,प्रतिभाशाली

प्रकृति के राजीव --

श्लाका पुरुष ,उज्जवल भारत के

निर्माण कर्ता थे राजीव --

अहिंसा ,सहिष्णुता ,त्याग की

मिसाल लिए

सच्चे भारतीय थे राजीव --

स्नेही व्यवहार ,श्लाघनीय ,

बुलंद इरादों का व्यक्तित्व

झोंक दिया जीवन जिसने

बनाने को देश -समृद्ध

मुख पर थी सरल मुस्कानों की आभा

संघर्ष -पथ पर जीवन उस दिव्य पुरुष का ,

स्वदृष्टा चले ही जाये

नहीं होते सपने ख़तम

राजीव के योगदान एवं कल्पनाओ को

साकार करते रहे हम

2 टिप्‍पणियां:

आदित्य आफ़ताब "इश्क़" ने कहा…

सोच रहा हूँ इस पोस्ट पर टिप्पणी अब तलक क्यों नहीं हुयी .............नेताओ का हाल बुरा हैं मेरे मुल्क में .........मैं राजीव गाँधी की याद में कसीदे नहीं पढूगा पर स्वर्गीय राजीव गाँधी महान नेता रहे हैं ,हालाँकि मैं नेहरु-गाँधी परिवार की नीतियों से कतई इत्तेफाक नहीं रखता ...........

ज्योति सिंह ने कहा…

shukriya aapka main aaj hi wapas lauti hoon ek mahine bahar rahi aaplogo se door mujhe .