शनिवार, 2 मई 2009

अभी तो चाँद ऊपर था ,
कब नीचे उतर गया ?
ये ख्वाब हकीकत ,
कैसे बन गया ?
या मैं जागकर ,
सपने में रह गया

2 टिप्‍पणियां:

SWAPN ने कहा…

sunder rachna.

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

बहुत सुन्दर.... शब्द-पुष्टिकरण हटा लें तो टिप्पणी देने में सुविधा होगी.