गुरुवार, 25 फ़रवरी 2021

कब तक.....

कब तक और ____
कहाँ तक
इन्तजार में खड़े रहकर
तुम्हारे सहारे को तकते रहें __
कभी तो
कहीं तो
तुम छोड़ ही दोगे
ऊब कर 
बैसाखी तो हो नही
जो पास में रख लू 
इतना ही काफी है
जो तुमने खड़ा कर दिया ___
दौड़ भले  पाऊं
तुम्हारे बगैर ,
मगर चल तो लूंगी अब ,
धीरे -धीरे ही सही
गिरते -पड़ते लड़खड़ाते ,
एक दिन दौड़ने भी लगूंगी 

रविवार, 21 फ़रवरी 2021

जिंदगी से सब.....

मुक्कमल जहां किसी को 
 मिलता नही
न मिले न सही 
कोई बात नही , 
दुनिया को समझने के लिए
जानने के लिए
जिंदगी ही काफी है 
यहाँ जिंदगी ही बहुत कुछ
दे देती है हमें 
ये भी कम नहीं , 
ये जिंदगी ही
सही सलामत रहे
बहुत है कही  । 

****************
ये जिंदगी यू ही कुछ नहीं देती 
बहुत कुछ देती है तो बहुत कुछ ले भी है लेती 
यहाँ जिंदगी से बढ़ कर जिंदगी से पहले कुछ नहीं 
इसी की वजह से सारी जरूरतें सारी बातें है होती, 
ये सही सलामत है तब तक सब कुछ साथ है । 
जिस दिन ये नही उस दिन फिर कुछ नहीं , 
वजह भी यही, बेवजह भी यही हैं, इसलिए जो है जितना है उसे ही संभाल कर रक्खा जाये ,उसी के लिए दुआ किया जाये, सुख दुख सारे इसी के साथ है,जो कुछ अच्छा होता है मिलता है ,उसके लिए अपने मालिक का शुक्रिया अदा करे, जाने के बाद भी जो साथ रहता है वो है काम, एहसास ,कर्म, प्यार। इन्ही की कद्र करनी चाहिए, इन्ही की हिफाजत करनी चाहिए ,हम सभी  इंसान को , यहाँ हौसले से काम बनते हैं, हथियार से नही, यहाँ हौसला जीतता है ,हथियार नही । 
यू तो कोई गिला नहीं 
सबकुछ था क्या न था 
फिर भी एक कमी सी थी 
जिसका पता न था, 
जाने क्या बात हुई 
जाने क्या बात हुई? 


शुक्रवार, 19 फ़रवरी 2021

उम्मीद.......

जिस उम्मीद के साथ हम

कुछ कहने को जाते है 

उस उम्मीद के साथ हम

लौट कर नही आते हैं  , 

तभी तो उन लोगों से हम

कुछ नहीं कह पाते है 

बात समझने की जगह जो

बात को  बढ़ा जाते है । 


गुरुवार, 11 फ़रवरी 2021

संगदिल

तुम तो पत्थर की मूरत हो

नज़र आते , अजंता की सूरत हो ,

जहां प्रेम तो झलकता बखूबी

पर अहसास नही जिन्दा कही भी ,

हर बात बेअसर है तुम पर

जो समझ से मेरे है ऊपर ,

सब बात पे आसानी से कह जाते

कोई फर्क नही पड़ता हम पर ,

इस हाड़ मांस के पुतले में

दिल तो नही ,हो गया कही पत्थर  ? 

तुम कह गए और हम मान गये

यहाँ बात नही होती ,पूरी दिलबर ,

क्या ऐसा भी संभव है

यह प्रश्न खड़ा ,मेरे मन पर ,

छोड़ो अब इसे जाने दो ,देखेंगे

क्या होगा आगे आने पर ।


शुक्रवार, 29 जनवरी 2021

प्यारे बापू कोटि कोटि प्रणाम

बापू की चप्पल 
बापू की धोती 
बापू की ऐनक
बापू की लाठी 
ये सब थे बापू के साथी

बापू का चरखा 
बापू के सूत 
बापू के विचार 
बापू सत्य के सपूत 
बापू का दृढ़ संकल्प अटूट 

नही कभी आराम 
नही कही विश्राम 
बापू का रहा 
बस चलना काम 
बापू की पूजा उनका काम  

बापू थे संत
भारत के रत्न 
लिए फिरते थे
आजादी के स्वप्न
युग के गौतम शत शत नमन

भारत को आजाद कराया
अंग्रेजों को मार भगाया 
नमक आंदोलन तुमने चलवाया
डांडी यात्रा भी करवाया 
देश के प्रति कर्तव्य अपने तुमने खूब निभाया 

देश तुम्हारी है संतान 
राष्ट्रपिता तुम सबके महान 
किया न्योछावर देश के लिए 
खाकर गोली अपने प्राण 
सारे जग को तुम पर अभिमान

युग के गौतम करुणा धाम
प्यारे बापू कोटि कोटि प्रणाम.



बुधवार, 27 जनवरी 2021

एक अजीब बाजार है दुनिया

एक अजीब बाजार है दुनिया 
जिंदगी की खरीदार है दुनिया, 

मोल खुशी का है नही कोई
गम की हिस्सेदार है दुनिया,

सच की कीमत को न समझे 
झूठ का करती व्यापार है दुनिया, 

सौदा करने का ढंग न आये
हिसाब मे बड़ी बेकार है दुनिया, 

रिश्तों की पहचान है मुश्किल
रहस्य भरी किरदार है दुनिया, 

समझदारों की कमी नहीं है 
फिर क्यों नही समझदार है दुनिया, 

राह है सीधी ,सफर है मुश्किल 
कैसी ये बरखुरदार है दुनिया ।

मंगलवार, 26 जनवरी 2021

मै देश हूँ तुम्हारा...........

मैं देश हूँ तुम्हारा 
मुझे प्यार से संवारो 
मैं देश हूँ तुम्हारा 
मुझे प्यार से संभालो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मुझे संकट से उबारों 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मुझे हरा- भरा कर डालो
मैं देश हूँ तुम्हारा 
मुझे हृदय में बसा लो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मुझे बुरी नजरों से बचा लो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मुझे अंधेरो से निकालो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मुझे गले से लगा लो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मेरे भाग्य को जगमगा दो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मेरे सर पे ताज पहना दो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मुझे आँखों में सजा लो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मुझे सोच मे रच डालो 
मै देश हूँ तुम्हारा 
मुझे प्यार से संभालो ।

ज्योति सिंह 

जय जवान  जय किसान , जय हिंद, मेरे प्यारे देशवासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई हो, 
गगन को चूमता रहे तिरंगा हमारा
खुशियों से लहराए तिरंगा हमारा.
धरती को नमन, आकाश को नमन, देश को नमन और हमारें देश के सारे वीरों को नमन, संपूर्ण सृष्टि को रचने वाले प्यारे प्रभु को नमन, 👏👏💐🌷